वो नम्र दिलें , वो कहा है

ये दिल टूट गया तो क्या हुआ ,
कोई दिल तोड़ गया तो क्या हुआ,
ये वक़्त भी गुज़र जायेगा ,
कोई हमसफ़र और मिल जायेगा /

वो नम्र दिले कहा है,
बेदर्द-ज़ालिम तो यहाँ हज़ार है ,
ये आँखे , ये दिल के रास्ते ,
वो हमसफ़र को तरसे,
वो एकपल का सुकून …वो कहा है ,
वो नम्र दिलें ……………वो कहा है/

One Response

  1. Er. Anuj Tiwari"Indwar" Er. Anuj Tiwari"Indwar" 01/10/2015

Leave a Reply