ये जीवन अर्पण है तुझको

ये जीवन अर्पण है तुझको
अर्पण है ये सूरज और चाँद
ये तारें,ये संसार और ये आकाश
सब कुछ करता हु अर्पण तुम्हे
करता हु अर्पण तुम्हे ये आस्था
अपना ये तन और ये मन
हे जगत की ज्ञानदायिनी माँ शारदे
कर दो प्रशस्त मेरे पथ को
दो हमें शक्ति छूने की आसमाँ को
दो शक्ति हमें मंजिल को पाने की,
फिर तो अर्पण है मेरा ये जन्म व मरण तुमको ,
ये जीवन अर्पण है तुझको …

Leave a Reply