* बुढ़ापा *

हमें बुढा न कहो
बुढ़ापे से लगता है डर,

आँख देखता नहीं
कान सुनता नहीं
हाथ पाव कांपे थर-थर,

हमें बुढा न कहो
बुढ़ापे से लगता है डर,

बाल सफेद हो जाते
दात ढेर हो जाते
बदन में रहता है दर्द,

हमें बुढा न कहो
बुढ़ापे से लगता है डर,

कोई हमारा सुनता नहीं
हमारी कृति को गुणता नहीं
सभी अपने में हैं अस्त-व्यस्त ,

हमें बुढा न कहो
बुढ़ापे से लगता है डर,

त्वचा सिकुड़ है जाती
चहरे का रौनक उड़ है जाती
बच्चे कहते क्यों करते हैं टर्र-टर्र,

हमें बुढा न कहो
बुढ़ापे से लगता है डर,

छोटे कहते आपने क्या किया
अपने लिए हैं सिर्फ जीया
साडी समस्याओं का हैं जड़
छुटकारा कब देगा
आपसे हमें ईश्वर ,

हमें बुढा न कहो
बुढ़ापे से लगता है डर।

One Response

  1. Er. Anuj Tiwari"Indwar" Anuj Tiwari"Indwar" 08/08/2015

Leave a Reply