Aankh ka paani ……. by tushar gautam

आँख का पानी न सूख सका
तेरा मेरा ना अपना हुआ ,
दूर हुए है जो हम तुमसे ,
जो चाहा वो सपना हुआ …..

अब सपनो में केसे जियें ,
सपना है पर टूटा हुआ ,
टूटा हुआ है दिल और सपना ,
अपना ही कही छूटा हुआ …….
आँख का पानी ……………..

अगर बस जाते जो हम तुममे ,
हम पा लेते जो खोया ,
पा लेते वो ख़ुशी हम तुमसे ,
तुमसे मिलती है वो दुआ . …

दुआ है तेरे लिए उस खुदा से ,
खुश रखे वो तुझे सदा ,
सदा रहे महफूज़ जहाँ में ,
जहाँ चूमे कदम सदा …
आँख का पानी ………..

डर नहीं दर्द है मैं में ,
मन का कोना है थका हुआ ,
थका हुआ है जिस्म ये मेरा ,
मेरे साथ जो दगा हुआ …

दगा किया था किस्मत ने ,
कस्मात से जो खफा हुआ ,
खफा खफा सा रहा में सबसे
सबसे खुद ही दूर हुआ …
आँख का पानी ……….

पल पल को तुझे याद करुँ ,
बिन तेरे में आहे भरु
क्या है ये जो हो ये रहा है ,
क्या यही होना था जो हुआ

होना था जो खोना था मुझे
मेने वो सब खो दिया
मेरे इश्क़ का वो आलम
जो चला आरहा था खत्म हुआ …
आँख का पानी …………….

By :तुषार गौतम

2 Comments

  1. Er. Anuj Tiwari"Indwar" Anuj Tiwari"Indwar" 08/08/2015
    • Tushar Gautam गौतम "नगण्य" 08/08/2015