ख्यालो में !!

    1. रहते हो पल पल तुम मेरी यादो में
      सारी बातो में, ख्वाबो की रातो में !
      बात कुछ तो ख़ास है तुझमे यारा
      जो खोये रहते है तेरे ही ख्यालो में !!

      कभी चाहत का पैगाम लिखो
      लेकर वफ़ा की कलम हाथो में !
      कर दो जिक्र कभी हमारा भी
      अपने नफरत भरे लफ्जो में !!

      कर लो सवार यादो की कश्ती में
      उतार देना जब चाहो हमे राहो में !
      चले जाएंगे दूर एक इशारे पर
      चंद लम्हे ठहरा दो इन सांसो में !!

      मानगे तुम्हारी वफ़ा को उस दिन
      जब करोगे जिक्र अपनी बातो में !
      होगी चाहत मिलन की हर पल
      देखोगे सपने हमारे तुम रातो में !!

      गुम जाते है अक्सर शोहरत की बुलंदियों में
      कही खो न जाना तुम इन बड़ी बड़ी बातो में !
      तब होगी रोज़ मुलाक़ात नए – नए लोगो से
      कही भुला न देना हमको उन रिश्ते नातो में !!

      डी. के. निवातियाँ ________@@@

2 Comments

  1. Er. Anuj Tiwari"Indwar" Anuj Tiwari"Indwar" 07/08/2015
    • डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 14/08/2015

Leave a Reply