तुम सहती क्या हो

तुम कहोगी नहीं
तो कोई सुनेगा नहीं
सुनेगा नहीं
तो जानेगा नहीं
और निदान इसी में
कि कोई सुने
तुम कहती क्या हो
कोई जाने
तुम सहती क्या हो.

Leave a Reply