हुस्न बिखेरा (हाइकु)

ऐसा गुरूर !
मद मस्त नशे मे
छाया सुरूर !१!

करती सौदा !
यौवन बेचकर
मरती जिन्दा !२!

हुस्न बिखेरा !
बिकता बाजार मे
माटी का ढेरा !३!Jh

Leave a Reply