समय नहीं है …

अपनी ज़िन्दगी को क्या बना दिया है हमने ,
बहुत सारे अच्छे दोस्त बनाये हमने ,
पर आज उन्हीं दोस्तों के साथ मस्ती करने के लिए….
समय नहीं है ……
बहुत रिश्ते सजोये रखे हमने अपने इस जीवन में ,
पर आज उन्हीं रिश्तों को निभाने के लिए..
समय नहीं है ….
बहुत पैसे कमाए हमनें इस छोटी ज़िन्दगी में ,
पर आज अपने ही पैसों को खुल के खर्च करने के लिए……
समय नहीं है ….
हद तो इस बात की हो गई ….
चाहे मजबूरी जो भी हो हमारी …..
लेकिन जिस माँ-बाप ने हमें जन्म दिया …..
आज उन्हीं के पेरशानी और ख़ुशी में उनके साथ खड़े होने के लिए ,
समय नहीं है …..

(अंकिता आशू )

Leave a Reply