चमचागीरी-88

चमचे असंभव को संभव कर सकते हैं;
अपनी पे उतर आएं तो आसमान में छेद कर सकते हैं.

Leave a Reply