चमचागीरी-67

हर जगह चमचों की एक ही पुकार है;
चमचागीरी मेरा जन्मसिद्ध अधिकार है.

Leave a Reply