चमचागीरी-58

चमचों को देख कर हम दुखी होते हैं;
चमचे वह फसल काट लेते हैं जो हम बोते हैं.

Leave a Reply