चमचागीरी-55

चमचे बहुत शैतान हैं, हम पे चमचों के कितने अहसान हैं;
इनकी वजह से हमारी जिंदगी अंधेरिया मोड़, उनकी जिंदगी प्रगति मैदान है.

Leave a Reply