अन्धविश्वास

तुम जिसे
अन्धविश्वास कहते हो ,
अन्धविश्वास ही होगा
शायद !
पर मेरे लिए
बेहतर है तुमसे …….
…यह अन्धविश्वास,
मुझे
कठिन समय में
विश्वास देता है.,
ध्येय और लक्ष्य के
रास्ते पर मिलने वाले
भ्रमित मार्गों पर
भटकने से रोकता है,
करुणा ,सहयोग,
मानवता
और भक्ति का
सबक देता है मुझे,
यह अन्धविश्वास ही होगा
किन्तु मुझे विश्वास देता है …

Leave a Reply