दुनियाँ में

दुनियाँ में मजाक शराफत है और क्या है
जिंदगी हर कदम आफत है और क्या है

जिसे कहते हैं मुहब्बत का ताज हम
पसीने की विरासत है और क्या है

इश्क जालिम है इश्क को छोड़िए भी
ये उम्र भर की सांसत है और क्या है

हाय आधी रात को क्यों बेचैन हो गया
उफ ये किसी की हरकत है और क्या है

रोटी खिलाकर दुआंए ले भी लीजिए
दुआओं में ही बरकत है और क्या है

अमन के दो बोल हैं इस फकीरी में
मुहब्बत की रियासत है और क्या है

सब हैरत खाने लगे मेरे कामयाबी पे
सब खुदा की इनायत है और क्या है

Leave a Reply