हे भगवान….

हे भगवान !
क्या तारीफ करूं तेरी ,
मेरी लगन मे ,
क्या खराबी पाया तूने !
घर मे कलह ,
परिवार मे परेसानी
मा को वीमार ,
बाप को शराबी बनाया तूने !!