मौका

क्यूँ देते है
हम मौका किसी को,
हमे दुःख दे जाने का,
हमे रुला जाने का,
वो कोई और,
नहीं होता,
होता है बस,
कोई अपना,
चाहा होता है,
जिसको हमने,
दिलों जान से,
वो ही इस दिल.,
को चीर जाता है,
क्यूँ देते है
हम मौका |

बी.शिवानी

Leave a Reply