खुदा का संदेश

खुदा का संदेश….

हर इंसान ज़िन्दगी को ख़ुशी से बिताना चाहता है |
लेकिन क्या तू मेरा इरादा जानता है ??
तेरे साथ कल होना क्या है किसे पता है |
तो फिर तू बार -बार क्यूँ ये सोचता है ??

भूत-भविष्य के लिए समय को तू मत बर्बाद कर |
वर्तमान में ही जी कर कोई अच्छा काम कर |
है भरोसा मुझ पर तो एक बार विश्वास कर |
मैं जो भी करता हूँ वो करता हूँ सब सोचकर ||

सबकोई धरती पर सुख की ही चाभी ढूंढता है |
खुशनसीब और सर्वगुण संपन्न बनना चाहता है |
तो कभी तोड़कर आसमान से तारे लाने को सोचता है |
लेकिन क्या तू इन सबका रास्ता जानता है ??

है कैसे ये सब मुमकिन तू ही आज बता मुझे |
कैसे दे दूँ खुशनसीबी और सुख की चाभी तुझे |
है पता तेरे कर्मो का लेखा-जोखा मुझे |
उसी के आधार पर देता हूँ मैं फल तुझे ||

खुशनसीब ही समझ जो आया है धरती पर इंसान बनकर |
सही नाम और शोहरत कमा सफलता की राह चूमकर |
और आगे बढ़ा कदम को अपने दिल की आवाज सुनकर |
तब तेरे साथ सब अच्छा ही होगा मेरी बात पर विश्वास कर ||

2 Comments

  1. डी. के. निवातिया dknivatiya 24/04/2015
  2. vaibhavk dubey vaibhavk dubey 25/04/2015

Leave a Reply