चमचागीरी -25

हमारे भी अच्छे दिन आएंगे यही सोच कर हमने अपनी जिंदगी गुजार दी है ;
जिस भी नौकरी में हम गए चमचों ने हमारी मेहनत बेकार की है .

Leave a Reply