लाली का राज

          लोग पूछते है हमारी आँखे कि लाली का राज
          अब उन्हें कैसे बताये इन सुर्ख नैनों का हाल !
          पीकर नफरतो के भरे जाम जिंदगी में हमने
          जिया इस कदर के जहर आँखों में झलकता है !!

2 Comments

  1. निशान्त पन्त "निशु" निशान्त पन्त "निशु" 22/04/2015
    • डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 24/04/2015

Leave a Reply