चमचागीरी-२२

हम सोचते थे आप हमेशा मस्त रहते हैं;
आज हमें पता चला आप भी हमारी तरह चमचों से त्रस्त रहते हैं.

Leave a Reply