चमचागीरी -21

वक़्त -वक़्त की बात होती है;
वरना चमचों की क्या औक़ात होती है.

Leave a Reply