ये दुरिया

दूरिया दिलो को पास लाती है
अपनों की कीमत का अहसास दिलाती है
दिल को और जोर से धड़कना सिखाती है
किसी को तुम्हारी चिंता है ये बताती है
पास आने की ख़ुशी बहार की तरह आती है
बिछोड़े की तकलीफ उसे पतझड़ बना जाती है
जब कभी अपनों की याद आती है
तब दूरिया आँखों में आंसू दे जाती है
कभी कभी ऐसा भयंकर मंजर दिखा जाती है
उनकी मौजूदगी आग की तरह जल जाती है
पीछे सिर्फ यादो की काली राख ही रह जाती है
पर फिर भी दूरिया दिलो को पास लाती है !!!!!!!!!!!!!!!!!!!

2 Comments

  1. gyanipandit 16/04/2015
    • कुमार मंगल कुमार मंगल 16/04/2015

Leave a Reply