ताकि फिर न रोए बुद्ध

प्रथम रुदन नहीं यह
इससे पहले भी कई बार रोया बुद्ध
कलिंग का बुद्ध
हिरोशिमा का बुद्ध
पोखरन का बुद्ध
फिलीस्तीन का बुद्ध
अयोध्या का बुद्ध
गोधरा-अक्षरधाम का बुद्ध
न्यूयार्क- बामियान का बुद्ध

पहली बार जब रोया था बुद्ध
अंकित हो गए थे एक सम्राट के आँसू
स्तम्भों और शिलालेखों में
शिलालेख संकल्पों के
शिलालेख एक विजेता के प्रायश्चित के

ये शिलालेख नहीं, प्रेम कविताएँ हैं
जिन्हे
हर किसी को पढ़ना चाहिए
ताकि
फिर न रोए कोई बुद्ध
गाँधी या जीसस क्राइस्ट

Leave a Reply