सन्देश

बिपिन गुप्ता
एस0 वाई0 बी0 एस0 सी0(आई0टी0)
भारत कॉलेज बदलापूर

शीर्षक

सन्देश

हाथो में झंडे फहरते रहेंगे।
जब तक मेरे साँस चलते रहेंगे।।2
माँ के चरणों जाकर नमन किजियेगा,
घर पर मेरे खबर किजियेगा।।2
दुश्मन पे गोली चलाते रहेंगे,
जब तक मेरे साँस चलते रहेंगे।2

डर कर कदम न पीछे करेंगे ,
जब तक मेरे साँस चलते रहेंगे।
सीमा पे लाल ऐसे आते रहेंगे,
भारत की लाज बचाते रहेंगे।2

अगले जनम बेटा बनते रहेंगे,
माता से लोरी सुनते रहेंगे।
बहना से राखी बधाते रहेंगे।।
हाथो में झंडे फहरते रहेंगे।
जब तक मेरे साँस चलते रहेंगे।।2

माँ से कहना कि दुश्मन का हाल बहाल हो गया।
तेरा लाल माता शहीद हो गया।।
हाथो में झंडे फहरते रहेंगे।
जब तक मेरे साँस चलते रहेंगे।।2

Leave a Reply