घड़ियाल

नदी में पर्याप्त जल था
सीपों, मछलियों
और तमाम जलजीवों के लिए

पर घड़ियालों को चैन कहाँ
गटक गए
सबके हिस्से का पानी
अपने समुंदरसोख पेट में

Leave a Reply