।।कविता।। हर इंसान भदैयां में ।।

।। हर इंसान भदैयां में ।।

पाण्डेय जी संतोष विधायक
लम्भुआ का प्रयास
जनता ने बिस्वास किया तो
रच डाला इतिहास
बहुत दिनों के बाद आ सकी
फिर से जान भदैयां में ।।
अमर कथा से धन्य हो गया
हर इंसान भदैयां में ।।1।।

गया प्रसाद महाविद्यालय
लम्भुआ सुलतापुर के बीच
बगहा बाबा के दक्षिण में
मंदिर के बिलकुल नजदीक
दूर दूर तक बहु चर्चित है
लाल निसान भदैयां में ।।
अमर कथा से धन्य हो गया
हर इंसान भदैयां में ।।2।।

बगहा बाबा के मंदिर से
विद्यालय के परिसर तक
दिव्य महल वह भरा हुआ था
भक्तगणों से बेसक
आस्था चैनल पर प्रसारण
हुआ आसान भदैयां में ।।
अमर कथा से धन्य हो गया
हर इंसान भदैयां में ।।3।।

बच्चे बूढे युवा महाशय
औरत बाल गोपाल
भक्ति भावना की वर्षा में
भींग गये हरहाल
पुलिस महकमा जागरूक था
हर नौजवान भदैयां में ।।
अमर कथा से धन्य हो गया
हर इंसान भदैयां में ।।4।।

बापू चिन्मयानन्द दास की
वाणी का प्रवाह
केंद्र बना था आकर्षण का
भक्ति भाव की चाह
अमृत रूपी कथा भागवत
गूंजा गान भदैयां में ।।
अमर कथा से धन्य हो गया
हर इंसान भदैयां में ।।5।।

दिन में कथा भागवत पावन
और रात में झांकी
रासलीला का दिव्य प्रकरण
होता कृष्ण लला की
भक्ति ज्ञान का किया सभी ने
अमृत पान भदैयां में ।।
अमर कथा से धन्य हो गया
हर इंसान भदैयां में ।। 6।।

योगगुरु खुद रामदेव जी
किये योग का जब अभ्यास
लगा था ताँता चौतरफा तब
भीड़ हुई थी खासमखास
‘कपालभाजी’ के भंजन का
मिला है ज्ञान भदैयां में ।।
अमर कथा से धन्य हो गया
हर इंसान भदैयां में ।।7।।

अंगवस्त्र धन दान किये
थे आस पास के ब्राम्हण
अति सुंदर विवाह महोत्सव
का सफल हुआ उनका प्रण
खुद गरीब कन्याओ का किये
कन्यादान भदैयां में ।।
अमर कथा से धन्य हो गया
हर इन्सान भदैयां में ।।8।।

गुप्तदान का अंगदान का
एक अनूठा दर्पण
स्वामी सहित भक्तगणों ने
किया है नेत्र समर्पण
स्वम् बिधायक जी नयनो का
किये है दान भदैयां में ।।
अमर कथा से धन्य हो गया
हर इन्सान भदैयां में ।।9।।

हर प्रकार से प्रसंसनीय था
अंतिम दिन भंडारा
महाप्रसाद लेकर भक्तो ने
निज जीवन को तारा
असंख्य लोगो की भक्ति की
हुई पहचान भदैयां में ।।
अमर कथा से धन्य हो गया
हर इंसान भदैयां में ।।10।।

हर प्रजाति हर मंदिर मस्जिद
हर धर्मो के लोग
महाप्रसाद से तृप्त हो गये
कर करके उपभोग
पहली बार हुआ था ऐसा
खुला एलान भदैयां में ।।
अमर कथा से धन्य हो गया
हर इंसान भदैयां में ।।11।।

धन्य हो गये श्री विधायक
धन्य रही सज्जनता
धन्य हो गाँव हमारा
धन्य हो गयी जनता
जैसे स्यमं उतरकर आये
हो भगवान भदैयां में ।।
अमर कथा से धन्य हो गया
हर इंसान भदैयां में ।।12 ।।

One Response

  1. Hemchandra 29/03/2015

Leave a Reply