तस्वीर मेरा ही पाओगी

”क्रंदन करती आँखों में
तस्वीर मेरा ही पाओगी
दूर कही भी हो जाओ पर
याद मेरी ही आएगी
टूटे हुए लब्जो में ही सही
तुम नाम मेरा दुहराओगी
क्रंदन करती आँखों में ….
बिताये हुए वो पल साथ मेरे,
हरदम याद रहेंगे तुम्हे
लाख कोशिशो बाद भी
तुम हमें न भुला पाओगी
हर पल हंसती आँखों में
खुशियो को मेरी ही पाओगी
क्रंदन करती आँखों ….
इश्क़ के बिकते बाज़ारो में
तुम नाम मेरा न पाओगी
मिटाके मोहब्बत को मेरी
तुम खुद मिट न पाओगी
खुली हुयी उन आँखों में भी
सपने मेरे ही पाओगी
रुखसत हुए उन बादलो में
बारिश मेरी ही पाओगी
क्रंदन करती आँखों में….”

Leave a Reply