सुरेश के दोहे

सुरेश के दोहे
*************
प्यार मुहब्बत सच यहाँ, झूठा लव जिहाद।
नफरत फ़ैलाने लोगो ने, शब्द किया ईजाद।।
*
जाति धर्म के भेद को, गढ़ता है इन्सान।
नानक ईसा एक है, एक खुदा भगवान।।
*
हिन्दू मुस्लिम सिख ईसाई, ज्यों होली के रंग।
हर त्यौहार सार्थक है, चारों जब हो संग।।
*
धर्म के नाम लोग जो, फैलाते है उन्माद।
इंसानियत के दुश्मन है, इतना वो रखें याद।।

(सुरेश जादव)

Leave a Reply