।।गजल।।गम से निकाह न कर।।

।।गजल।।गम से निकाह न कर।।

प्यार कर पर प्यार मे जिंदगी तबाह न कर ।।
कम से कम हर किसी पर सक की निगाह न कर ।।

और भी तो है मायने इस जिंदगी के दोस्त ।।
सिर्फ प्यार के ही लिये हर गुनाह न कर ।।2।।

प्यार में रास्तो की कोई शरहद नही होती ।।
जिंदगी भर शाहिलो पर ही निबाह न कर ।।3।।

और भी रिश्ते है तेरे ही इंतजार में माहिल ।।
मायूस न कर इनको, गम में पनाह न कर।।4।।

यकी कर तुम्हे भी जरूरत है जिंदगी में इनकी ।।
अभी भी वक्त है गम से निकाह न कर ।।5।।

****

Leave a Reply