अजब दुनिया

अजब है ये दुनिया,
यहाँ पल में ही हमने लोगो के इमान को बिकते देखा है
रिश्ते नाते की कदर किसे है,
यहाँ तो हमने दुल्हे के रूप में इंसान को बिकते देखा है
डॉक्टर है तो बीस लाख,
इंजिनियर है तो पंद्रह लाख की बोली लगती है
बड़े अफसरों के कहने क्या,
सरकारी चपरासी हो तो दस लाख की गोली लगती है
कैश टीवी फ्रिज गोदरेज कार,
मांग बहुत से होते है
इनके बिना रिश्ता नहीं,
ना जाने ऐसे रिश्ते कैसे होते है
पूर्वजों की बनाई कुछ गलत रीतियों में
ना जाने आज भी क्यों कुछ लोग रहते है,
दहेज़ को अपना हक समझने वाले,
क्या इसीलिए अपनी बेटी को धन पराई और बहु को लक्ष्मी कहते है?
– प्रीती श्रीवास्तव

Leave a Reply