बहुत कुछ सिखाया हैं आशिकी ने !

बहुत कुछ सिखाया हैं आशिकी ने!
नींद और सकून उडाया हैं आशिकी ने!!
ये पूछों क्‍या क्‍या भूले आशिकी में!
तुृझे छोड सब कुछ भुलाया हैं आशिकी ने!!
अविनाश कुमार

Leave a Reply