ये जीवन है

ये जीवन है

ये जीवन है …….हाँ ये जीवन है
थोड़ा गीला सा कभो थोड़ा सूखा सा
लगे रूखा सा, तो कभी हल्कापन है
ये जीवन है …….हाँ ये जीवन है

चलना है इसका काम कभी रुकता नही
हो चाहे कोई भी शै ये कभी झुकता नहीं
धुप हो या हो छावं बस नित्य चलना है
ये जीवन है …….हाँ ये जीवन है

ख़ुशी हो या गम सबसे मिलकर निकले
रंग बिरंगे मौसम बदले, पर न ये बदले
हर शै में ढलकर हमको आगे बढ़ना है
ये जीवन है ………हाँ ये जीवन है

उम्र की राहो में मंजिले बदलती है
वक़्त की आंधी में इंसान बदलते है
हार जीत के खेल से सबको गुजरना है
ये जीवन है ……..हाँ ये जीवन है

पल पल रेत सी ढलती जिंदगानी
हर रोज लिखती एक नई कहानी
अपनी गाथा वर्णन सबको करना है
ये जीवन है ……हाँ ये जीवन है

डी. के निवातियाँ_______ooo

Leave a Reply