आज का मूल्य

आज का मूल्य

जीवन लुटाते माँ-बाप संतान के लिये
जीवन लूटते संतान आज धक्के मारते
पितृ ऋण चुकाते माँ-बाप परवारिशमें
हिसाब मांगते संतान गर्व करते आपमें |

Leave a Reply