आज का कौन हैं?

आज का कौन हैं?
वो बस एक था !
जिसने सीता हरण किया।
पर वो तो महाज्ञानी था !
आज तो रवां हर कहि दीखते
अलग -अलग रूपों में
वो स्कूलों में डोनेशन मांगता
तो सरकारी दफ्तरमे रिश्वत
वो दहेज़ के लिए हत्या करता
तो वादो के नाम पर वोट मांगता
और कुर्सी मिलते ही
जनता को भूल जाता
पर आज के रावणो की
एक बात सामान है
वे देश को खुशियाँ
तो नही गम ही देंगे
+नेहा लिम्बोदिया

Leave a Reply