‘चौधरी चरण सिंह जयंती’

‘चौधरी चरण सिंह जयंती’
आज चरण सिंह के जीवन की गाथा गाने आया हूँ |
सतयुग सा सवरे भारत नव जागरण करने आया हूँ ||
जमीदारी -पटवारी – उन्मूलन का संदेश सुनाता हूँ |
सुघर -सुंदर -सुहावन सुव्यवस्थित सुशासन कौशल हूँ ||
हर्षित हुलसित किसान औ सेना को सीमा सुनाता हूँ |
प्रतिभाशाली दिग्विजयी नीति -निपुण सेनानी बताता हूँ ||
जागो-जागो!भारत के ललनवाँ-किसनवाँ प्रीति सुनाता हूँ|
आज चरण सिंह के जीवन की मैं गाथा गाते आया हूँ ||
पूर्व प्रधान मंत्री की स्मृति में आओ हम सब याद करें |
शोषित-पीड़ित -दलित उपेक्षित का आगे बढ़कर मान करें||
उनके त्याग-तपस्या उन्नति नीति का हम सब सम्मान करे|
आओ फिर मिलजुल कर हम मातृभूमि का गौरव गान करें ||
यूँ सीमा पर सेना सतर्क है बिपरीत परिस्थित झेल कर |
आज हमें प्रण करना होगा आंतरिक सुरक्षा सुरक्षित् कर ||
ऐसे विभूतियों से प्रेरित हो स्वच्छ समाज का गठन करें |
जन – जन हो खुशहाल पंचशील संदेश * हमेसा गहे रहें ||
नमन हमारा उस नायक को जिसने गणतंत्र सवारा है |
समरसता -सावधान- शुभ -शान्ति -सद्भाव हमारा नारा है ||

2 Comments

  1. rakesh kumar rakesh kumar 23/12/2014
  2. Sukhmangal Singh sukhmangal 29/05/2015

Leave a Reply