मौसम सर्दी का

मौसम सर्दी का

बड़ी देर से आया अबकी मौसम सर्दी का
लाया ढेर सारी खुशिया मौसम सर्दी का

देखो इस मौसम की छटा है सबसे निराली
धुप भी लगती इस मौसम में कितनी प्यारी

गाजर,मूली,सरसो,पालक मेथी बने आहार है
मटर जैसी हरीभरी सब्जियों की आई बहार है

खाना पीना, कपडे पहनना सब लगते है प्यारे
एक दूजे संग मिलके बैठे आग जलाकर द्वारे

मूँगफली, रेवड़ी-गज़क,चाय-कॉफी लगती प्यारी
सूप बने या पकोड़े,बात गाजर के हलवे की न्यारी

सर्दी में सब ठिठुर-ठिठुर जाए जब होती बर्फ़बारी
इस मौसम का अपना आनंद पड़ता सब पर भारी

घर में बैठे दादा-दादी,और नाना नानी ठिठुरे,
छत के ऊपर बैठे पंछी, देखो ठण्ड से ठिठुरे,

मुह से ऐसे निकले भाप,जैसे इंजन चलता हो
चारो और फैला कोहरा जैसे रात का अँधेरा हो

बिस्तर सबको नरम चाहिए,खाना पीना गर्म चाहिए
नहाने धोने से करे परहेज,अबतो सबको छुट्टी चाहिए

टोपी, मफलर, कोट पहनकर पापा दफ्तर जाए
घर के काम से मम्मी की हालत पतली हो जाए

सबसे अच्छे, हम छोटे बच्चे,कभी न घबराये
मस्ती करते सर्दी में हम, हरदिन मौज उड़ाये

डी. के. निवातियाँ _________@@@

Leave a Reply