मेरी कविताओं की डायरी

मेरी कविताओं की डायरी में
बंद पड़े हैं
कुछ पुराने फूल
कालेज के ज़माने के

एक ऐतिहासिक दस्तावेज़ है
मेरी कविताओं की डायरी

पिंडोरा बाक्स है

एक ख़ज़ाना है
कविताओं की कानें है‍ इस डायरी में
जिसे खोदने पर मिलते हैं
बहुमूल्य हीरे-जवाहरात
रत्न-पन्ने
मोती माणिक्य
जिसमे‍ क़ैद हैं बहुत से अनुभव
अनुभूतियाँ, भावनाएँ
भीगी कोमल यादें

एक निशानी है
अपनों की
एक याद है
गु़ज़रे हुए ज़माने की
बीते हुए दिनों की
अतीत है यह मेरा
अल्लादीन का चिराग है
बर-बार पढ़ने से जिसे
मिलते है‍ नये अर्थ

Leave a Reply