अभिलाषा ( भाग दो )

अभिलाषा ( भाग दो )

@——युवक की अभिलाषा —-@

पत्नी ऐसी दीजीए, हमको तुम भगवान !
देखन में ऐश्वर्या लगे, सुंदरता की खान !!

संस्कारी बहु बने घर की रखे साफ़ सफाई !
सारा घर का काम करे, बनकर शांताबाई !!

रेखा जैसा जलवा हो,जो साठ में भी युवा लगे !
प्रियंका सी फिगर रखती, माधुरी सा डांस करे !!

सोनिया जैसी चतुर हो,किरण जैसी दमदार !
मैरीकॉम से मेडल जीते, संभाल के परिवार !!

हर काम में अव्वल हो,रहे पति सेवा को तैयार !
स्वादिस्ट भोजन बनाये,वो प्यार करे बेसुमार !!

पत्नी ऐसी दीजीए , हमको तुम भगवान !
कभी न कोई मांग हो,करे न्योछावर प्राण !!

@———-डी. के. निवातियाँ !!

6 Comments

    • डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 02/03/2015
  1. BHASKAR ANAND BHASKAR ANAND 13/12/2014
    • डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 02/03/2015
  2. C.M. Sharma babucm 30/07/2016
  3. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 30/07/2016

Leave a Reply