कहीं बाकी है

कितना भी भूलूं उसे याद वोह आती है
थोड़ी ही बहुत वोह मुझमे कहीं बाकी है
हमसफ़र को साथ छोड़े हो गये है न जाने कितने जनम
पर इतने वक़्त के बाद भी वो मुझमें कहीं बाकी है .

Leave a Reply