पल भी बड़ा

पल भी बड़ा
************
एक उड़ान
बिहानीका सूरज
धर्म निभाता |१|

क्या है दर्द
ना प्रसव से बड़ा
वो बीज बोता |२|

पल भी बड़ा
जीनें को सॉस लेना
कोही तो है वो |३|

प्यार लुटाते
हर मुश्किलें सहें
सलाम तुम्हें |४|

पलका सुख
सृष्टि है बदनाम
रिश्तों में धब्बा |५|

छोटा सा रास्ता
पलटें ये पैसों में
गिरता जब |६|

ब्यस्त जीवन
उम्र नहीं पूछता
सब्रका फल |७|

कर्म है बड़ा
समय नहीं होता
पल में फल |८|

राम शरण महर्जन
कीर्तिपुर, काठमांडू

Leave a Reply