तबाह

वो मिला था अजनबी की तरह, न जाने कब दिल में बसेरा कर गया !
देता रहा झूठी तसल्ल्ली जिंदगी भर साथ निभाने का वादा कर गया !!
मिला बड़े अदब से मुस्कुरा के,लौटूंगा एक दिन मेरा इन्तजार करना !
अजीब शख्स निकला,जाते जाते मुझे मेरी जिंदगी से तबाह कर गया !!

Leave a Reply