।।इन्तजार।।

।।इन्तजार।।

उनके इन्तजार मे वक्त बर्बाद न कर अमन ।।
तेरे इन्तजार मे कोई और यहाँ बैठा है ।।1।।

रहम न कर कोई फिक्र नही पर इतना तो सोच ।।।
वजूद तेरा क्या होगा मेरे जाने के बाद ।।। 2 ।।

तकलीफ तो होगी पर कोई बात नहीँ ।।
जिसकी मुद्दत हो वही तो तकलीफ यहाँ देता हैे ।।3।।

इल्म कर जिंदगी ना गुजार किसी की यादोँ मे ।
तकलीफ जिंदगी भी देती है और याद़े भी ।।4।।

Leave a Reply