वक्त

।।वक्त।।

मंजिल दूर है तो क्या चल के आजमाना है ।।
वक्त भी कम है और खुद को भी बचाना है ।। 1।।

हौसला रखकर हमें भी जीत लेना है खुशी ।।
और जिंदगी से किया वादा भी निभाना है ।। 2।।

क्या हुआ गर मिले आंख मे आंसू मुझे भी ।।
एक बार ही सही पर दिल को आजमाना है ।। 3।।

रस्तो पर ही रुके है जो समझ कर मंजिले ।।
रास्ता काफी अभी है उनको यह बताना है ।। 4।।

रास्ते इस जिंदगी पर लौटना मुमकिन नही ।।
वक्त से पहले हमें भी जिंदगी को पाना है ।। 5।।

One Response

  1. अरुण अग्रवाल अरुण जी अग्रवाल 29/11/2014

Leave a Reply