गीत -त्रिभाषा संघ से मिलकर चले भाषा का हर शिक्षक |

त्रिभाषा संघ से मिलकर चले भाषा का हर शिक्षक |
करो सहयोग श्रधा से हमे समझो न तुम भिक्षक ||

बिना धन के सपा सरकार से हम लड़ नहीं सकते |
सपा को कोर्ट बिन जाए तमाचा जड नहीं सकते ||
बना डाले नियम उल्टे अकललेश मूर्ख मंत्री है |
चलाते खुद के कालेज हैं सपा तो है नक़ल रक्षक ||

मशीहा है नक़ल के ये सियासत की गुणांकों की |
प्रतिस्पर्धा विरोधी हैं करी दुर्गति टेटान्कों की ||
कचेहरी कह रही वेटेज टेटान्कों का दिया जाये |
बिना वेटेज दिए टेट ये भर्ती खा रहे भक्षक ||

नियम को ताक पर रखकर सपा शाशन चलाती है |
बनें शिक्षा शत्रु शिक्षक सपा अब खिलखिलाती है ||
त्रिभाषा की परीक्षा दो कराकरके सपा कहती |
त्रिभाषा है न एन सी टी में विक्रम बन गए तक्षक ||

त्रिभाषा संघ को अब तो चुनौती है सपा देती |
कहा सर्वेन्द्र विक्रम ने वो बोली है क़पा देती ||
करो सहयोग सब मिलकर जो भाषा टेट बचाना है |
त्रिभाषा संघ रिट डाले बनों भाषा के तुम शिक्षक ||

आचार्य शिवप्रकाश अवस्थी
9412224548
प्रदेश अध्यक्ष
त्रिभाषा शिक्षक विकास वेलफेयर एसोसिएसन
(उत्तर प्रदेश)

Leave a Reply