।।विश्वास।।

।। विश्वास ।।

रहने दो
अब बहुत हो चुका
प्यार अभी भी
सही
नहीं है ।।। 1।।

जोकि मेने
और सभी ने
सोचा था पर किया
नही हैं ।।। 2

क्याकि मन मे
और हृदय मे
आशा है विश्वास
नही है।।3।।