…बात ही कुछ और है !!

रोज – रोज दुसरो के पैसो से शराब पीने वालो की
इधर उधर से मांगकर बीड़ी को स्टाइल में पीने की
मकान मालिक का किरायेदार पर रोब जमाने की
और पड़ोसन के हाथ से बने परांठे मजे से खाने की
……………….. बात ही कुछ और है !!

अपना चेहरा आईने ने बार बार देख इतराने की
बरात में सड़क पर लेट नागिन डांस दिखाने की
दुकानदार से उधार सामान ले गुलछर्रे उड़ाने की
अपनी बीवी में किसी हेरोइन की सूरत देखने की
………………. बात ही कुछ और है !!

होटल में जाकर बेवजह वेटर को हड़काने की
सेल्समैन के आगे खुद समझदार दिखाने की
लड़कियों के सामने नए नए स्टंट दिखाने की
बदसूरत लेडीज़ को बेहद खूबसूरत बताने की
…………,,.. बात ही कुछ और है !!

दूर के रिश्ते में लगने वाले मंत्री को सगा बताने की
बॉस की चमचागिरी कर स्टाफ की चुगल लगाने की
दावत में दो-दो बार खाकर, कम स्वादिष्ट बताने की
फ्लाइट मैं एयरहोस्टेस से बार बार पानी मंगाने को
…………………..बात ही कुछ और है !!

ससुराल में जाकर हर बात पे नखरा दिखाने की
दुसरो के घर जाकर खुद को संस्कारी दिखाने की
स्कूटर की पिछली सीट पे बैठ चलाना सिखाने की
दूर की सालियों पर बीबी से ज्यादा हक़ जताने की
……………….. बात ही कुछ और है !!

डी. के. निवातियाँ

3 Comments

  1. Shyam shyam tiwari 15/11/2014
    • डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 02/03/2015
  2. Shyam shyam tiwari 15/11/2014

Leave a Reply