मेष और वृश्चिक राशि पर ग्रहों की दृष्टियों का फल

चन्द्र दृष्टि फल

सविता कुज की राशि पर चन्द्र दृष्ट जो होय |
सुन्दर पत्नी प्रेम मय दानी मानी सोय ||

मंगल दृष्टि फल

कुज की दृष्टि विशेष है युद्ध बलि औ क्रूर |
हाथ पाँव औ नेत्र सब रक्त तेज युत सूर ||

बुध दृष्टि फल

बिधुज दृष्टि अभिशाप है भृत्य दरिद्री जान |
निर्बल तन दुःख दीन मन ,मलिन देह पहिचान ||

गुरु दृष्टि फल

जीव दृष्टि वरदान सी मंत्री न्यायाधीश |
जातक अति बलवान हो विनय करै जगदीश ||

शुक्र दृष्टि फल

शुक्र दृष्टि फल अधम है पत्नी नीच सो पाव |
अधिक शत्रु कम बंधू सुख ह्रदय ग्लानि पछिताव ||

शनि दृष्टि फल

मंद दृष्टि से मंद हो जातक परम मलीन |
बुद्धि हीन बलहीन तन सदा दुखी अति दीन ||

आचार्य शिवप्रकाश अवस्थी
9412224548

Leave a Reply