श्लाेक

कुपाेदकम् तरुच्छाया कृष्णास्त्री यस्टिका गृहम्
शीतकाले भवेदुष्णम् उष्णकाले च शीतलम् ।।

कुप का पानी वृक्षका छाया कृष्ण वर्णवली नारी अाैर इटा से बनाया हुवा घर ये सब गर्मी के वख्त ठन्डे हाेते है‌ अाैर ठन्डी के समय मे‌ गरम हाेते है‌ ।
यह सही है या नही । मित्रा‌े कुछ उत्तर दिजिएगा ।

Leave a Reply