सिर्फ तुमसे !

प्यार करना गलत नहीं है
प्यार ना करना गलत है,
पुछों किससे !
..किससे ?
खुदसे !
और उसकी एक याद,
मेरा पूरा दिन खूशबुदार हो जाता है,
पुछो किसकी !
..किसकी ?
खुदकी !
और मै चाहता हूँ कि,
मै यूंही जिंदगीभर प्यार करता रहूँ,
पुछो किससे !
..खुदसे !
नहीं ! सिर्फ तुमसे !

रचनाकार/कवि~ डॉ. रविपाल भारशंकर

Leave a Reply