जाने दो अब

जाने दो अब

बहुत हो चुका अपनापन यह
आखिर कब तक समझायेंगे
जाने दो अब नहीं भरोसा
हम तुम पर भी कर पायेंगे ।।1।।

हर दिल मे जब दर्द भरा है
हर आँखें जब प्यासी
हर धड़कन मे नाम किसी का
हर चाहत एक  उदासी
किस किस की आँखों मे  यारों
उम्मीदे हम भर पायेंगे ।।
जाने दो अब नही भरोसा
हम तुम पर भी कर पायेंगे ।।2।।

सोच रहे थे हम तुम मिलकर
बाटेंगे तकलीफे
हमे पता क्या एक बार फिर
उभरेगी वो चीखें
वर्षों पहले उन घावों पर
कब तक मरहम रख पायेंगे ।।
जाने दो अब नही भरोसा 
हम तुम पर भी कर पायेंगे ।।3।

न जाने क्यों नही मिल रहा
किसी को सहारा
जिसको देखो वही फिर रहा
प्यार का मारा मारा
इतना नाँलेज मुझे नही कि
सबके गम को पढ पायेंगे।।
जाने दो अब नही भरोसा
हम तुम पर भी कर पायेगें ।।4।।

हमने सोचा कि तुमसे कुछ
पायेंगे आश्वासन
परन्तु भरा हैं पहले से ही
दर्दों से तेरा मन
वेपरवाही होना ही हैं
दर्द नही हम हर पायेंगे ।।
जाने दो अब नहीं भरोसा
हम तुम पर भी कर पायेंगे ।।5।।

Leave a Reply